मशरूम की खेती कैसे करे | मशरूम की खेती 2022

 यदि आप किसी फसल का उत्पादन बिजनेस के रूप में करना चाहते हैं वहां उससे एक अच्छी आए जनरेट करना चाहते हैं तो आपके लिए मशरूम की खेती एक अच्छा चुनाव हो सकती है वर्तमान समय में मशरूम का इस्तेमाल खाने के रूप में वहां दवाइयों में किया जाता है इसके अलावा इसे स्पोर्ट पर्सन के द्वारा भी उपयोग में लाया जाता है क्योंकि मशरूम में बहुत ही पोषक तत्वों से युक्त भोज्य पदार्थ है इस में वसा की मात्रा बहुत ही कम होती है वाह यदि आप इसका उपयोग करते हैं तो हमारा हरदे भी स्वस्थ रहता है यदि हम वर्तमान समय मैं देखे तो विभिन्न क्षेत्रों में मशरूम की मांग बढ़ती ही जा रही है इससे आप अंदाजा लगा सकते हैं कि इस क्षेत्र में यदि आप अपने व्यापार को प्रारंभ करते हैं तो आप बहुत अच्छा मुनाफा इस के द्वारा कमा सकते हैंमशरूम की खेती आप कैसे प्रारंभ कर सकते हैं यदि आप मशरूम की खेती प्रारंभ करना चाहते हैं तब आप मशरूम के बीज कहां से खरीद सकते हैं आपको मशरूम की किस्म का चयन किस प्रकार करना चाहिए

मशरूम की खेती करने की प्रक्रिया क्या है व इससे जुड़े अन्य सभी महत्वपूर्ण प्रश्नके बारे में सारी जानकारी हम आपको इस पोस्ट के माध्यम से प्रदान करने वाले हैं अतः आप इस पोस्ट को शुरू से लेकर अंत तक पूरा पढ़िए

मशरूम की खेती क्या है

हम आपको मशरूम की खेती के बारे में जानकारी दें उससे पहले हम आपको यहां बता दें कि मशरूम क्या है मशरूम एक प्रकार का फफूंद है जिसे हम खाद्य पदार्थ के रूप में उपयोग करते हैं यहां एक छाते के आकार का पौधे की तरह दिखता है

मशरूम की खेती में हम मशरूम का व्यापक स्तर पर उत्पादन करते हैं वहां इसे बड़े स्तर पर उत्पादन करने के पश्चात हम इसे बाजार में भेज देते हैं

मशरूम के प्रकार

यदि हम व्यापक रूप से बात करें तो मशरूम की कई सारी प्रजाति है या है परंतु ऐसी बहुत ही कम प्रजाति पाई जाती है जिन्हें मानव भोजन के रूप में उपयोग करता है वहां जो हमारे लिए उपयोगी है इनमें से प्रसिद्ध प्रजातियां बटन मशरूम पैड़ी स्ट्रॉ स्पेशली मशरूम दूधिया मशरूम धींगरी या आयस्टर मशरूम आदि मशरूम मुख्य मशरूम है जो हमारे लिए लाभदायक होती है जिन्हें आप व्यापक सदन स्तर पर उत्पादन कर सकते हैं वह इन्हें आप बेचकर अच्छा पैसा कमा सकते हैं

सफेद बटन मशरूम

सफेद बटन मशरूम की खेती पहले निम्न तापमान वाले स्थानों पर की जाती थी लेकिन आजकल नई तकनीकों के सहायता से लगभग सभी स्थानों पर इसकी खेती की जा सकती है सरकार द्वारा भी सफेद बटन मशरूम की खेती के प्रचार-प्रसार को प्रोत्साहन दिया जा रहा है सामान्यता इस मशरूम के उत्पादन के लिए 22 से 26 डिग्री सेल्सियस तापमान की आवश्यकता होती है

डिंगरी या आयस्टर मशरूम

इस मशरूम की खेती वर्ष भर की जा सकती है इसके लिए अनुकूल तापमान 20 से 30 डिग्री के मध्य मांस अपेक्षिक आद्रता चित्र से 90 परसेंट होनी चाहिए आयस्टर मशरूम को उगाने में गेहूं धान के भूसे और दानों का इस्तेमाल किया जा सकता है यहां मशरूम 2:30 से लेकर 3 महीनों के मध्य तैयार हो जाती है इसका उत्पादन वर्तमान समय में लगभग संपूर्ण भारत वर्ष में किया जा रहा है इसकी विभिन्न प्रजातियों के लिए भिन्न-भिन्न तापमान की आवश्यकता होती है

दूधिया मशरूम

इस मशरूम को ग्रीष्मकालीन मशरूम के नाम से जाना जाता है इसका आकार बढ़ावा कर सकता है यहां एक प्रकार की उष्णकटिबंधीय मशरूम है इस मशरूम का धीरे-धीरे भारतवर्ष में प्रचार हो रहा है

Paddy straw mushroom

इस मशरूम को गर्म मशरूम के नाम से भी जाना जाता है क्योंकि यह अपेक्षाकृत उच्च तापमान वाले क्षेत्रों में तेजी से बढ़ती है अनुकूल परिस्थितियों में इसका फसल चक्र 3 से 4 सप्ताह के मध्य पूरा हो जाता है इस मशरूम में प्रोटीन और विटामिन और खनिज लवण की मात्रा बहुत अच्छी होती है इस मशरूम को उगाने के लिए अनुकूल तापमान 28 से 35 डिग्री के मध्यमा सापेक्षिक आद्रता 60 से 70% के मध्य होना चाहिए

मशरूम की खेती कैसे करें

बटन मशरूम की खेती की विधि

खेती के लिए सही समय

बटन मशरूम की खेती के लिए सबसे उपयुक्त समय अक्टूबर से मार्च के बीच होता है बटन मशरूम के लिए 22 से 25 डिग्री तापमान उपयुक्त होता है वह इसके लिए 80 से 85 परसेंट तक नमी की जरूरत होती है यदि आप इस समय इसकी खेती प्रारंभ करते हैं तो आप बहुत अच्छे परिणाम प्राप्त कर सकते हैं

बटन मशरूम की बुवाई से पूर्व की तैयारियां

यदि आप बटन मशरूम की खेती प्रारंभ करना चाहते हैं तो इसमें आपको एक विशेष प्रकार की खाद की आवश्यकता होगी जिसे हम कंपोस्ट खाद के नाम से जानते हैं यहां पर हम आपको कंपोस्ट घास को बनाने की संक्षिप्त विधि बता रहे हैं जिससे आपको अवश्य जाना चाहिए   

आवश्यक सामग्री

गेहूं और चावल का भूसा

अमोनियम सल्फेट

कैलशियम अमोनियम नाइट्रेट

सुपर फास्फेट

यूरिया

वीट ब्रेन

Gypsum

कंपोस्ट खाद को किस प्रकार तैयार करें/कंपोस्ट खाद बनाने की विधि

कंपोस्ट को एक साइड में तैयार किया जाता है कंपोस्ट को तैयार होने में लगभग 28 दिन का समय लगता है सबसे पहले गेहूं या चावल की भूसी को अच्छी तरह साफ किया जाता है और उसे 2 दिन तक उस पर पानी डालकर किला किया जाता है इस समय अंतराल में भूसे की नमी 75 पर सेंट तक होनी चाहिए2 दिन तक भूखे को पानी डालकर लगातार गिला करने के पश्चात आपको यहां चेक करते रहना चाहिए कि कहीं भूसा अंदर से सूखा तो नहीं है अगर भूसा अंदर से सुख आए तो उस पर फिर से पानी डालकर उसे आपको अच्छी तरह गिला करना चाहिए

अब इस तरह गिले किए हुए गुस्से में बाकी सभी तत्व जो हमने आपको पहले बताए थे वह उसमें इसमें मिलाएं और भूसे को पुनः थोड़ा सा गिला करें गिला करते समय इस बात का ध्यान रखें कि पानी भूसे से बाहर ना निकले अब इस भूसे के ढेर को लगभग दो-तीन दिन तक ऐसा ही पड़े रहने दे 3 दिन के बाद भूसे के ढेर की पलटी करना शुरू करें पलटी को इस तरह करें कि अंदर का भाग बाहर की ओर मां बाहर का भाग अंदर की ओर चला जाए

बटन मशरूम की बुवाई

यदि आप बटन मशरूम की खेती को व्यापक स्तर पर करना चाहते हैं तो आपको बटन मशरूम के बीज को किसी भरोसेमंद दुकान से ही खरीदना चाहिए बीच को खरीदते समय आपको यह ध्यान रखना चाहिए कि 20 बहुत पुराना नहीं होना चाहिए हमेशा मान्यता 1 क्विंटल कंपोस्ट में 750 ग्राम से 1 किलो तक बटन मशरूम के बीज उपयोग करना चाहिए

बुवाई के समय रूम का तापमान 25 डिग्री सेल्सियस और नवीन चित्रपट सेंट तक रखना चाहिए बुवाई के पश्चात आपको के सिंह का ध्यान देना चाहिए

बटन मशरूम की फसल की देखभाल

बटन मशरूम की फसल में खास देखभाल की आवश्यकता होती हैजिस स्थान पर आप बटन मशरूम की फसल को बोल रहे हैं वहां पर आपको तापमान 20 से 30 डिग्री के मध्य रखना चाहिए वह ऐसे स्थान पर आपको हवा की उचित व्यवस्था करना चाहिए वहां उस कक्ष में नवमी सत्तर से अस्सी परसेंट के मध्य रखना चाहिए इसके अलावा आपको समय-समय पर कंपोस्ट में नमी की मात्रा को भी जांच करते रहना चाहिए

बटन मशरूम की फसल की कटाई

जब मशरूम की फसल काटने योग्य हो जाए तब आप को सावधानीपूर्वक मशरूम को तोड़ लेना चाहिए

फसल की कटाई के पश्चात उसके भंडारण का विशेष ध्यान रखें किसी नाम स्थान पर ही भंडारित करें

पोस्टर ऑन मिल्की मशरूम की खेती की विधि

इस प्रकार की मशरूम को भूसे में बोने से पूर्व भूसे का शुद्धिकरण किया जाता है ताकि भूसे में मशरूम बहुत अच्छी तरह से विकसित हो पाए

भूसे का शुद्धिकरण

भूसे को शुद्धिकरण करने के लिए पानी में फॉर्मलीन मां कार्बन भाई जी हम मिक्स किए जाते हैंइसके बाद इन्हें पानी में अच्छी तरह मिक्स किया जाता है इसके पश्चात इस पानी में भूसा डाल दिया जाता है इसके बाद दूसरे को इस पानी में अच्छी तरह मिक्स किया जाता है ताकि वह इस पानी में अच्छी तरह मिक्स हो जाए अब इस भूसे को किसी अच्छे त्रिपाल से ढक दिया जाता है ताकि यहां भुजा हवा के सीधे संपर्क में ना आए ऐसा इसलिए किया जाता है कि यदि भूसा हवा के सीधे संपर्क में आएगा तो हमारे द्वारा उपयोग किए गए केमिकल प्रभावहीन हो जाएंगे मशरूम की गजल ढंग से नहीं हो पाएगी

भूसे को सुखाना

अगले चरण में भूसे को सिखाया जाता है इसके लिए भूसे को किसी सांप जगह पर फैला दिया जाता है मुझे को सुखाने के लिए उसे निश्चित समय अंतराल पर बार-बार पलटा जाता है ताकि गुस्सा अच्छी तरह सूख सके

भूसे को इस तरह सुखाए जाता है कि उस में नमी की मात्रा 50% तक रहे

इस पवन की बिजाई करना

पोस्टर और मिल्की मशरूम की खेती का अगला चरण इस पावन बीज की बुआई करना होता है इस चरण में बीच को भूसे में मिलाया जाता है विजय करने का उपयुक्त समय सुबह का होता है

मशरूम की खेती के लिए मशरूम फार्मिंग ट्रेनिंग सेंटर

यदि आप मुझसे रूम फार्मिंग के बिजनेस को प्रारंभ करना चाहते हैं तो इससे पहले आपको किसी मशरूम फार्मिंग ट्रेनिंग सेंटर में जाकर इस खेती को करने की ट्रेनिंग अवश्य लेना चाहिए इन मशरूम फार्मिंग ट्रेनिंग सेंटरों में आंखों मशरूम की खेती किस प्रकार की जाती है इसकी प्रॉपर तकनीक बताई जाती है यहां पर हम आपको डिटेल में इनके बारे में बताएं रहे हैं

आईआईएचआर इंडियन इंस्टीट्यूट आफ हॉर्टिकल्चरल रिसर्च

इंस्टीट्यूट ने लखनऊ क्लब नागपुर राशि गोधरा गोनिकोप्पल एक्सपेरिमेंटेशन स्थापना की है

यहां पर आपको मशरूम फार्मिंग के बिजनेस से जुड़े कुछ कोर्स में ट्रेनिंग प्रवाहित की जाती है

सपोर्ट मशरूम सीड प्रोडक्शन

मशरूम कल्टीवेशन

आईसीएआर भारतीय कृषि अनुसंधान संस्थान

यहां पर भी आपको मशरूम फार्मिंग बिजनेस से जुड़े कुछ कोर्स में ट्रेनिंग प्रोवाइड की जाती है जैसे

कल्टीवेशन टेक्नोलॉजी ऑफ व्हाइट मशरूम

Cultivation technology of oyster mushroom

बागवानी प्रौद्योगिकी संस्थान

यहां पर भी आपको मुझसे रूम फार्मिंग के बिजनेस से जुड़े कुछ वर्षों में ट्रेन उपलब्ध कराई जाती है

मशरूम प्रोडक्शन

मशरूम के बीज को कहां से खरीदें

यदि हम मशरूम की खेती को प्रारंभ करना चाहते हैं तो इस समय हमारे मन में सबसे पहला प्रश्न है यहां होगा कि हम इस खेती को करने के लिए मशरूम के बीज यानी कि स्पेन कहां से खरीदें द मशरूम के बीज आप ऑनलाइन ऑफलाइन दोनों तरीकों से खरीद सकते हैं

अगर आप ऑनलाइन मशरूम की बीज खरीदना चाहते हैं तो आप इंडियामार्ट से मशरूम के बीजों को खरीद सकते हैं इसके अलावा आप गूगल में मशरूम के बीजों के लिए अन्य प्लेटफार्म को भी सर्च कर सकते हैं जहां पर आपको मशरूम के अच्छे क्वालिटी के बीज मिल जाएंगे

यदि आप मशरूम के बीज को ऑफलाइन मंगाना चाहते हैं तो आपको अपने नजदीकी गवर्नमेंट अप्रूव्ड एग्रीकल्चर सेंटर पर जाना चाहिए वहां पर आप अच्छी प्रजाति के मशरूम के बीज आसानी से खरीद सकेंगे

मशरूम के बीज की कीमत क्या है

यदि आप मशरूम की खेती करना चाहते हैं वहां आप यहां जानना चाहते हैं कि मशरूम के बीजों की कीमत क्या होगी तो हम आपको यहां पर जानकारी दे रहे हैं कि यदि आप मशरूम के बीजों को ऑनलाइन इंडियामार्ट से खरीदते हैं तो मशरूम के बीजों की कीमत सामान्यता ₹95 प्रति किलोग्राम वर्तमान समय में हैं यहां यहां किसी अन्य प्रगति मैदान के लिए अलग भी हो सकती है

इसके अलावा यदि आप कृषि केंद्रों से भी नजरों के बीजों को खरीदते हैं तो यहां पर भी आपको 80 से ₹100 प्रति किलोग्राम के मंत्र उम्र के बीच आसानी से मिल जाएंगे

मशरूम को कहां बेचे

अब हमारी मन में यहां प्रश्न आता है कि मशरूम की फसल को उत्पादित करने के पश्चात हम उसे बेचे कहां

वर्तमान समय में मशरूम की मांग निरंतर बढ़ती ही जा रही है यदि हम वर्तमान समय में देखे तो इसका प्रयोग खाद्य समाज सामग्री वहां दवाइयों में बहुत ही अधिक किया जा रहा है इस वजह से उनकी मांग होटलों व रेस्टोरेंट्स में बहुत ही अधिक है आप इन स्थानों पर संपर्क करके अपनी फजल को सीधे इमेज भेज सकते हैं

इसके अलावा आप यदि अपनी मशरूम की फसल को मंडी में बेचना चाहते हैं तो आपको यह फसल के लिए मंडी के बारे में जानकारी प्राप्त करना चाहिए वहां अपनी नजदीकी मंडी में इसे बेचना चाहिए

यदि आपके नजदीकी क्षेत्र में कोई अच्छी मंडी नहीं है जहां पर आप अपनी मशरूम की फसल को भेज सकें तो आपको किसी दवाई कंपनियां किसी बड़े व्यापारी से सीधे ही संपर्क करना चाहिए जिससे आप अपनी फसल को सीधे ही  बेच सकें यदि आप अपनी फसल को इस तरह नहीं बेचना चाहते हैं तो आप अपनी मशरूम की फसल को सुखा भी सकते हैं वह इसे सुखाकर आप इसे पाउडर बनाकर ऑनलाइन बहुत ही उच्च कीमतों में भेज सकते हैं

मशरूम की खेती से मुनाफा

मशरूम की खेती एक ऐसा बिजनेस है जिसमें हर साल 13 लगभग 13% की दर से बढ़ोतरी हो रही है इस बिजनेस में बढ़ोतरी होने का मुख्य कारण यह है कि इस बिजनेस को बहुत ही कम लागत से शुरू किया जा सकता है वहां इससे बहुत अच्छा मुनाफा कमाया जा सकता है

अगर हम इसकी लागत के बारे में विश्लेषण करें तो हमें यहां ज्ञात होगा कि एक सेठ से 3000 किलोग्राम के आसपास मशरूम का उत्पादन किया जा सकता है जिसे बाजार में सामान्यता सो रुपए किलो से डेढ़ सौ रुपए किलो के मध्य बेचा जा सकता है

3000×100=₹3, 00,000

अगर हम कुल मुनाफे को देखें तो हमारा कुल मुनाफा 300000-144400=155600 तक होगा

इस प्रकार आप यहां अंदाजा लगा सकते हैं कि आप इस खेती के द्वारा कितना पैसा कमा सकते हैं यदि आप इस बिजनेस को बड़े स्तर पर प्रारंभ करते हैं तो आप एक लाख से ₹500000 तक का लाभ कमा सकते हैं

मशरूम की खेती के लिए गवर्नमेंट सब्सिडी वाला लोन

प्रशिक्षित मशरूम की चमक को नेशनल बैंक फॉर एग्रीकल्चर एंड रूरल डेवलपमेंट नाबार्ड के द्वारा लोन प्रस्तावित किया जाता है इस्लाम को लेने के लिए किसानों को एक रिपोर्ट ना व्हाट्सएप करन पड़ती है

नेशनल हॉर्टिकल्चर बोर्ड बी मशरूम की खेती में सब्सिडी प्रदान करता है सब्सिडी का अमाउंट पूरी लागत का 20% तक होता है सामान्य क्षेत्रों में यहां अधिकतम 2500000 रुपए वहां पहाड़ी क्षेत्रों में ₹300000 तक होता है

स्टेट गवर्नमेंट भी मशरूम फार्म को प्रस्तावित करने के लिए सब्सिडी प्रदान करती है

राष्ट्रीय कृषि विकास योजना में भी किसानों को मशरूम हाउस टूल्स इत्यादि के लिए ₹80000 तक की वित्तीय सहायता प्रदान की जाती है

डिपार्टमेंट ऑफ एग्रीकल्चर एंड कोऑपरेशन बी नेशनल हॉर्टिकल्चर स्कीम के तहत मशरूम फार्म को सहायता प्रदान करती है इसके कुछ बिंदुओं को यहां पर हमने आपको समझाया है

स्पाई यूनिट कंपोस्ट प्रिपरेशन और ट्रेनिंग 

इसके तहत पब्लिक सेक्टर को हंड्रेड परसेंट सहायता प्रदान की जाती है वह प्राइवेट सेक्टर को कुल लागत का 50% सब्सिडी प्रदान की जाती है

स्पर्म प्रोडक्शन यूनिट

पब्लिक सेक्टर को कुल लागत का 90% और निजी क्षेत्रों को कुल लागत का 50% सब्सिडी प्रदान की जाती है

कंपोस्ट प्रोडक्शन यूनिट्स

इसके तहत पब्लिक सेक्टर को कुल लागत का 90% और निजी क्षेत्रों को कुल लागत का 50% सब्सिडी प्रदान की जाती है

मशरूम की खेती से जुड़े कुछ अन्य महत्वपूर्ण बिंदु

जिस रूम में आप मशरूम की खेती कर रहे हो उस रूम में एक खिड़की वहां दरवाजा होना आवश्यक है

आप जिस रूम में मशरूम की खेती कर रहे हो उसका तापमान 25 से 30 डिग्री के मध्य होना चाहिए

समय-समय पर आपको पॉलिथीन बजे के तापमान को भी जागते रहना चाहिए अधिक नमी होने पर मशरूम में विकास नहीं होगा

मशरूम की खेती से जुड़े कुछ सामान्य प्रश्न

मशरूम के बीज कहां से खरीदें

मशरूम की खेती के लिए मुस्लिम के बीजों को आप ऑनलाइन ऑफलाइन दोनों तरीकों से खरीद सकते हैं ऑनलाइन खरीदने के लिए आपको किसी अच्छी वेबसाइट से ही मशरूम के अच्छी क्वालिटी के बीजों को खरीदना चाहिए यदि आप इन बीजों को ऑफलाइन खरीदना चाहते हैं तो आपको अपने नजदीकी कृषि सेवा केंद्र जो सरकार द्वारा प्रमाणित हो से आप मशरूम के अच्छी प्रजाति के बीज खरीद सकते हैं

मशरूम की खेती में कितनी लागत लगती है

मशरूम की खेती में लागत मशरूम की खेती किस स्तर पर कर रहे हैं इस बात पर निर्भर करती है यदि आप छोटे स्तर पर मशरूम की खेती प्रारंभ कर रहे हैं तो आप की लागत बहुत ही कम लगभग 50000 तक होगी वहां यदि आप इसे बड़े स्तर पर प्रारंभ करना चाहते हैं तो आप की लागत 100000 से 200000 तक हो सकती है

मशरूम की खेती के लिए आवश्यक तापमान क्या है

सभी प्रकार की मशरूम की खेती के लिए सामान्य तापमान 15 डिग्री से लेकर 25 डिग्री के मध्य होता है यहां विभिन्न प्रकार की मशरूम मुंह के लिए भिन्न-भिन्न हो सकता है

क्या सरकार से मशरूम की खेती के लिए सब्सिडी लोन मिल सकता है

हां यदि आप मशरूम की खेती प्रारंभ करना चाहते हैं तो इसके लिए आपसे आपको सरकार से एक अच्छी राशि सब्सिडी के रूप में मिल जाती है जिससे आप इस व्यवसाय को बहुत ही आसानी से प्रारंभ कर सकते हैं

मशरूम की खेती का भविष्य क्या है

यदि हम वर्तमान समय की बात करें तो विभिन्न क्षेत्रों में मशरूम की मांग निरंतर बढ़ती ही जा रही है इससे आप यहां अंदाजा लगा सकते हैं कि मशरूम की मांग भविष्य में भी निश्चित रूप से ही बढ़ेगी आता अब यदि आप वर्तमान समय में मशरूम की खेती को प्रारंभ करते हैं तो यहां आपके लिए एक बहुत ही अच्छा चुनाव होगा

अंतिम शब्द

इस पोस्ट के माध्यम से हमने आपके साथ मशरूम की खेती से जुड़े हुए विभिन्न बिंदुओं को डिटेल में समझाया है जैसे कि मशरूम की खेती क्या है मशरूम के लिए अच्छी किस्मों का चयन किस प्रकार करें मशरूम की खेती यदि आप प्रारंभ करते हैं तो इसमें लागत कितनी होगी इससे आप कितना मुनाफा कमा सकते हैं आप मशरूम की खेती अधिक प्रारंभ कर रहे हैं तो आप अपनी फसल को किस प्रकार भेज सकते हैं आदि सभी जानकारियां हमने आपको इस पोस्ट के माध्यम से प्रदान की है

इस पोस्ट मैंने आपको यहां भी समझाया है कि यदि आप मशरूम की खेती प्रारंभ करना चाहते हैं तो इससे पहले आपको किसी प्रशिक्षण संस्थान से मशरूम की खेती को आप किस प्रकार प्रारंभ कर सकते हैं इसके लिए ट्रेनिंग देना अत्यंत आवश्यक हो जाता है आप मशरूम की खेती करने के लिए आवश्यक ट्रेनिंग कहां से प्राप्त कर सकते हैं इसकी जानकारी भी हमने आपको इस पोस्ट में दी है इसके अलावा हमने आपको मशरूम की खेती करने की विधि को भी इस पोस्ट में समझाया है इस पोस्ट को पढ़ने के पश्चात आपको अपने लगभग सभी प्रश्नों के जवाब मिल गए होंगे यदि अभी भी आपका मशरूम की खेती से संबंधित कोई अन्य प्रश्न है तो वहां आप हमें कमेंट करके पूछ सकते हैं हम आपके प्रश्न का जवाब आपको अवश्य देंगे

इस पोस्ट को शुरू से अंत तक पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *